हम  आज आपको बताएँगे की कंप्यूटर (Computer) कितने प्रकार के होते हैं ? Types Of Computerऔर  इतना ही नहीं  Types of Computer. इन  सभी प्रश्नों का जबाब बहुत ही आसान शब्दों में देंगे।

आज के इस हाई टेक दुनिया में शायद ही कोई ऐसा हो जो computer के बारे में न जानता हो । आज कल computer, internet and mobile के बारे में लगभग हर लोग जानते है । तो चलिए शुरू करते है ।

कंप्यूटर किसे कहते है  (What is Computer in Hindi)

Computer is a electronic machine, who work on Input-Process-Output. अर्थात यह  एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो  Input-Process-Output के सिधांत पर कार्य करता है । इसको हिंदी  में संगणक कहते है । Computer शब्द अंग्रेजी के compute शब्द से बना है। जिसका अर्थ होता है गणना करना ।
यह केवल उन्ही निर्देशों का पालन करता है जो पहले से ही इनके अन्दर डाले गए होते है । यह केवल किसी प्रोग्राम के द्वारा निर्देशित किये गए कमांड को ही एक्सीक्यूट करता है ।  इसके अंदर जैसे ही कोई डाटा इनपुट करते है तो यह इसको  software की मदद से प्रोसेस करके आउटपुट दे देता है ।

You May Also Like

यह दो चीजो से hardware and software से मिलकर बना होता है । इसको ऑपरेट करने वाले ब्यक्ति को computer Operator या यूजर कहते है । और जो इसके लिए programme बनता है, उसे programmer कहते है

कंप्यूटर हार्डवेयर के प्रकार

इस इलेक्ट्रॉनिक मशीन के वह सभी हिस्से जैसे  keybord, monitor, cpu या वह सभी चीजे जिन्हें हम हाथ से छूकर पता कर सकते है उन्हें hardware कहते है ।इनको तीन भागो में बाटा गया है ।

  1.  Input Device
  2.  Central Processing Unit (C.P.U)
  3.  Output Device

1- Input Device

कंप्यूटर (Computer) के वे पार्ट जिनके द्वारा किसी डाटा को यूजर कंप्यूटर में प्रोसेसिंग के लिए इनपुट करता है । Input Device कहलाता है । जैसे Keybord, mouse, touch pen itc.
android ke locked images बिना पासवर्ड कैसे देखे?
sim card cloning कैसे होता है?

2- Central Processing Unit (C.P.U)

यह कंप्यूटर (Computer) का दिमाग होता है , और इसी के द्वारा यह अपनी सारी लॉजिकल, और मैथमेटिकल ऑपरेशन को संपन्न करता है । और डाटा को reuse के लिए यूजर के अनुसार स्टोर भी रखता है ।

3- Output Device

Input Device के द्वारा कंप्यूटर (Computer) को दिए गए डाटा processing के बाद जिस hardware डिवाइस के द्वारा यूजर प्रोसेस्ड हुए डाटा को आउटपुट के रूप में प्राप्त करता है उसे output डिवाइस कहते है । जैसे Monitor, Speaker, Printer, Plotter itc.

कंप्यूटर (Computer) Software

वे पार्ट जिनको हम देख सकते है उन पर कार्य कर सकते है । लेकिन उनको हम अपने हाथो से छू नहीं सकते वे software कहलाते है । यह भी दो  प्रकार के होते है ।

  1.  System Software
  2.  Application Software

1- System Software

system software किसी भी कंप्यूटर (Computer) को चालू करने के बाद उसे कार्य करने की स्थिति में लाता है ।  इसका मुख्य कार्य  hardware और एप्लीकेशन software के बीच सामंजस्य स्थापित करना होता है ताकि यूजर आसानीपूर्वक  अपने सभी कार्य application software पर  पूरा कर सके । इस समय के सबसे प्रचलित system Software Windows, macOS, Linux है ।

2- Application Software

रोजमर्रा के कार्यो लैटर टाइप कारण, इन्टरनेट पर सर्फिंग करना, चार्ट बनाना, आदि कार्यो को करने के लिए जिन software का प्रयोग होता है । उन्हें application software कहते है । प्रतेक एप्लीकेशन software किसी विशेष कार्य को करने के लिए ही बनाया जाता है ।

जैसे लेटर टाइप करें के लिए Wordpad, msWord, painting के लिए ms-paint , photo editing के लिए Photoshop इत्यादि ।

 Computer के प्रकार – Types of Computer in Hindi

अब हम बात करेंगे यह कितने प्रकार का होता है । चुकी Computer को तीन आधारों पर विभाजित किया गया है.

  1.  संरचना  के आधार पर कंप्यूटर के प्रकार -Based on Structure
  2. कार्य  क्षमता के आधार पर कंप्यूटर के प्रकार- Based on performance and size
  3. उद्देश्य के आधार पर कंप्यूटर के प्रकार -On the basis of purpose

1-  Type of Computer Based on Structure (संरचना के आधार पर कंप्यूटर के प्रकार)

संरचना के आधार पर कंप्यूटर तीन  प्रकार के होते है.

  •  Analog
  •  Digital
  •  Hybrid

a- Analog Computer

इस प्रकार के मशीन जो भौतिक मात्राओ को temperature, pressure, length , height को मापकर उनके परिमाप को दर्शाने के लिए किसी रूलर का प्रयोग करते है ऐसे computer एनालॉग कंप्यूटर कहलाते है । इनका प्रयोग विज्ञान और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में किया जाता है ।

analog-computer

b- Digital computer

वे मशीन  जो अपने सभी कार्यो को डिजिट के रूप में करते है और आउटपुट भी डिजिट के रूप में देते है । डिजिटल कंप्यूटर (Computer) कहलाते है । यह जीरो और वन दो अंको पर कार्य करते है, जिसे बाइनरी नंबर सिस्टम भी कहते है । हम लोग आजकल जो भी कंप्यूटर , मोबाइल, टेबलेट यूज़ करते है सब डिजिटल ही होते है ।

c- Hybrid Computer

जिस में हाइब्रिड और डिजिटल दोनों कंप्यूटर (Computer) के गुण होते है वे हाइब्रिड कंप्यूटर कहलाते है । इस प्रकार के कंप्यूटर (Computer) का प्रयोग मेडिकल क्षेत्र में किया जाता है ।

Hybrid-Computer

2- Type Of Computer Based on performance and size (कार्य  क्षमता के आधार पर कंप्यूटर के प्रकार)

Performance और  Size के आधार पर कंप्यूटर चार प्रकार के होते है. ।

  1. Micro
  2. Mini
  3. Main frame
  4.  Super

1- Micro computer

इस प्रकार के कंप्यूटर में micro processor का इस्तेमाल किया जाता है । इसलिए इसे माइक्रो कंप्यूटर कहते है । इनका आकर इतना छोटा होता है । इनको एक स्टडी टेबल पर रख कर यूज़ किया जा सके या गोद में रख कर प्रयोग किया जा सकता है । यह एक सिंगल यूजर होता है ।

2- Mini computer

यह माइक्रो से अधिक तेज़ व मेमोरी वाले होते है ।  इनमे भी  cpu लगे होते है । ये काफी तेजी से डाटा को प्रोसेस करते है । इनक उपयोग टिकेट बुकिंग तथा बैंकिंग के क्षेत्र में होता है ।

mini- computer

3- Main frame computer

ये  मिनी कंप्यूटर के अधि मेमोरी व अधिक तीव्र गति से काम करते है। ये आकार में मिनी से बड़े होते है और इनका प्रयोग बैंक, रेलवे आरक्षण, सरकारी विभागों व बड़ी बड़ी कंपनियों के द्वारा किया जाता है । इनमेइ टास्किंग की   हमता होती है ।

main-frame-Computer

4- Super computer

ये  अकार में काफी बड़े होते है । इनमे डाटा को प्रोसेस करने की क्षमता अन्य ke mukabale  काफी अधिक होती है । यह multiuser and Multi tasking होता है । इनका उपयोग satellite, परमाणु रिएक्टर , मिसाइल आदि को कण्ट्रोल करने में होता है ।

इसका उदहारण SahasraT (SERC – Cray XC40),Aaditya (iDataPlex DX360M4),TIFR – Cray XC30,HP Apollo 6000 Xl230/250,PARAM Yuva – II ,Cluster Platform SL230s Gen8,Cluster Platform 3000 BL460c Gen8,iDataPlex DX360M4,Cluster Platform SL250s Gen8

Super-computer

3- Type of Computer On the basis of purpose (उद्देश्य के आधार पर कंप्यूटर के प्रकार )

उदेश्य के आधार पर कंप्यूटर को दो भागो में बाटा गया है-

  1. General Purpose Computer सामान्य उद्देश्य के लिए कंप्यूटर
  2. Special Purpose Compute विशेष उद्देश्य हेतु कंप्यूटर

1- General Purpose Computer सामान्य उद्देश्य के लिए कंप्यूटर

जब  कंप्यूटर का इस्तेमाल सामान्य कामो के लिएका जाता है और वे सीओ computer, multiple task को perform करने की capability रखता हो उसे general purpose computerकहलाते है. 

इस प्रकार के computer में हम letter, document, game playing, movie देख सकते है , song सुन सकते है, इसके द्वारा फ्लाइट और ट्रेन के टिकेट book कर सकते है.  इत्यादि प्रकार के काम को perform कर सकते हैं.

General purpose computer को इस प्रकार से डिजाईन किया गया होता है की वह बहुत से कार्यो को आसानी के साथ करने में सक्षम होता है.

2- Special Purpose Compute विशेष उद्देश्य हेतु कंप्यूटर

इस प्रकार के computer को किसी एक single task को perform करने के लिए बनाये  जाते हैं. इसलिए इन्हें  dedicated computer भी कहा जाता है.

Special purpose computer को अलग अलग कार्यो  के लिए अलग अलग तरीके से डिजाईन किया जाता है जैसे weather forecasting (मौसम की भविश्यवाणी) करने के लिए, मिसाइल बनाने के लिए,  साइंटिफिक रिसर्च करने के लिए, satellite launch करने के लिए, traffic system को control करने लिए.

चुकी इस प्रकार के कंप्यूटर केवल सिंगल कार्य को ही कर सकते है इसलिए इनकी प्रोसेसिंग स्पीड काफी तेज़ होती है. लेकिन इन कंप्यूटर की सबसे बड़ी कमी यह है की यह जिस काम के लिए डिजाईन किये गए होते है वे केवल उसी कार्य को कर सकते है, किसी अन्य कार्य को नहीं.

Conclusion

तो मित्रो अब तो आपको जानकारी हो गई  होगी की कंप्यूटर  कितने प्रकार का होता है? Types Of Computerऔर इनको कितने भागो में बाटा गया है और उनके वर्गीकरण का आधार क्या है? मैंने आपके लिए कुछ Super Computer के नाम भी दिए है । जो आपकी जानकारी को और बड़ा देगा ।
इसी के साथ main यह कहना चाहता हु की यदि यह पोस्ट अच्छा  लगे तो इसे जरुर अपने मित्रो के साथ शेयर करे लाइक करे और comment भी करे ।